Kidney Stone : किडनी में स्टोन होने पर बरतें ये सावधानियां

88 / 100

Kidney Stone Prevention tips in Hindi: किडनी स्टोन यानि किडनी स्टोन आज एक बहुत ही आम बीमारी हो गई है। इसका सफल इलाज संभव है, लेकिन यह एक ऐसी बीमारी है जो एक बार ठीक हो जाने के बाद बार-बार हो सकती है। ऑक्सालेट का अधिक सेवन गुर्दे की पथरी के लिए जिम्मेदार होता है। नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (एनसीबीआई) के अनुसार, दुनिया भर में लगभग 12% लोग गुर्दे की पथरी से पीड़ित हैं।

किडनी में स्टोन की समस्या होने के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें से एक ऑक्सालेट के अधिक सेवन से माना जाता है। किडनी में अलग-अलग तरह के स्टोन होते हैं, जिसकी जानकारी टेस्ट से मिलती है। हालांकि किडनी स्टोन की समस्या को हेल्दी डाइट से दूर किया जा सकता है।

आज इस लेख में हम समझेंगे कि किडनी स्टोन की समस्या को दूर करने के लिए आहार में क्या शामिल करना चाहिए और क्या नहीं। लेकिन सबसे पहले आइए जानते हैं कि किडनी स्टोन क्या है और इससे जुड़ी अहम जानकारी।

क्या होता है किडनी स्टोन? (Kidney Stone Prevention tips in Hindi)

जब किडनी में ऑक्सालेट और कैल्शियम जैसे कई तत्व जमा हो जाते हैं, जो धीरे-धीरे ठोस कणों में बदल जाते हैं। इसे पथरी रोग कहते हैं। किडनी स्टोन से बचने के लिए डॉक्टर ऐसी चीजें खाने से मना कर देते हैं, जिनमें ऑक्सालेट, यूरिक एसिड, कैल्शियम की मात्रा अधिक होती है, जैसे टमाटर, बैगन आदि।

Miniature people doctor and nurse observing and discussing about human kidneys , science and medical concep

किडनी में स्टोन कितने प्रकार के होते हैं?

किडनी में मुख्य रूप से चार तरह के स्टोन या स्टोन हो सकते हैं। पसंद:

  • कैल्शियम ऑक्सालेट स्टोन्स
  • कैल्शियम फॉस्फेट स्टोन्स
  • यूरिक एसिड स्टोन्स
  • सिस्टीन स्टोन्स

कैल्शियम ऑक्सलेट स्टोन होने पर किन-किन चीजों से करें परहेज?

अगर आपकी किडनी में कैल्शियम ऑक्सालेट स्टोन है, तो आपको अपने आहार से ऐसे खाद्य पदार्थों को हटाना होगा, जिनमें बहुत सारा प्रोटीन, सोडियम या ऑक्सालेट हो। कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं:

  • मूंगफली
  • पालक
  • चिकन, अंडे या मछली खाने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें।
  • डेयरी उत्पादों के अत्यधिक सेवन से बचने की भी आवश्यकता हो सकती है।
  • अपने भोजन में सोडियम का स्तर भी कम रखें।

कैल्शियम फॉस्फेट स्टोन होने पर किन चीजों से करना है परहेज?

  • पशु प्रोटीन और सोडियम से बचा जाना चाहिए।
  • लोगों का मानना है कि सोडियम नमक में ही पाया जाता है। लेकिन सच्चाई यह नहीं है कि पैकेज्ड फूड और फास्ट फूड में काफी मात्रा में सोडियम पाया जाता है। इसलिए आपको भी इन खाद्य पदार्थों का सेवन करते समय सावधानियां बरतनी चाहिए।
  • चिकन खाने से बचें।
  • मछली और अंडे का सेवन कम करना भी फायदेमंद रहेगा।
  • दूध, दही और पनीर जैसे डेयरी उत्पादों का भी विवेकपूर्ण उपयोग करने की आवश्यकता है।
  • सोया दूध, सोया मक्खन और टोफू जैसे सोया खाद्य पदार्थों को भोजन में शामिल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श लें।
  • काजू और बादाम जैसी किसी भी चीज का सेवन करने से पहले जान लें कि उसकी मात्रा सही है।
  • कैल्शियम से भरपूर खाद्य पदार्थों को दैनिक भोजन में शामिल करना चाहिए। लेकिन, सही मात्रा के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें।

बियर के बारे में कुछ रोचक तथ्य, जो शायद आप नहीं जानते होंगे, जानिए क्या है यह

यूरिक एसिड स्टोन की समस्या में क्या न खाएं

  • आपको चिकन खाने से बचना होगा।
  • मछली और अंडे का सेवन कम करना फायदेमंद रहेगा।
  • दूध, दही और पनीर जैसे डेयरी उत्पादों का सेवन सही मात्रा में करना चाहिए।
  • सोया दूध, सोया नट बटर और टोफू जैसे सोया खाद्य पदार्थों को अपने आहार में शामिल करने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें।

सिस्टाइन स्टोन होने पर क्या खाएं

  • किडनी में सिस्टीन स्टोन होने की स्थिति में अधिक से अधिक तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए और पानी भी पीना चाहिए।
  • मछली और अंडे का सेवन कम करना फायदेमंद साबित होगा।
  • दूध, दही और पनीर जैसे डेयरी उत्पादों का सेवन निर्धारित मात्रा में ही करें।

गुर्दे की पथरी होने पर पानी में नींबू का रस मिलाकर पीने से भी लाभ होता है। इसके अलावा संतरे का जूस, जौ और रेड वाइन के नियमित सेवन से भी किडनी स्टोन की समस्या में फायदा हो सकता है। किसी भी तरह के मांस का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना जरूरी है।

बहुत अधिक पशु प्रोटीन गुर्दे की पथरी के खतरे को बढ़ा सकता है। वहीं बीन्स, मटर और दाल का सेवन भी हानिकारक हो सकता है। न्यूट्रिशनिस्ट की सलाह के बाद ही डाइट चार्ट बनाएं। कभी-कभी स्व-दवा से गुर्दे की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है।

गुर्दे में पथरी है, तो करें इनसे परहेज

उच्च मात्रा में यूरिक एसिड, पोटेशियम, सोडियम और कैल्शियम से भरपूर खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए। इन खाद्य पदार्थों में प्रोटीन, डेयरी उत्पाद, नट्स, पालक, फलियां, बाजरा शामिल हैं।

किडनी स्टोन से कैसे बचें – Kidney Stone Prevention tips in Hindi

अत्यधिक पानी का सेवन

दिन भर में कम से कम 8 से 10 गिलास पानी पिएं। शरीर में पानी की मात्रा अधिक होने से किडनी में जमा चीजें पेशाब के जरिए शरीर से बाहर निकल जाती हैं। स्वस्थ शरीर के लिए जरूरी है कि एक दिन में शरीर में 2 लीटर तक पेशाब का उत्पादन हो।

कैल्शियम का भरपूर सेवन

कोलेस्ट्रॉल से बचने के लिए अपने आहार में कैल्शियम को शामिल करें। इस बात का ध्यान रखें कि कैल्शियम की मात्रा का सेवन अपनी उम्र के अनुसार ही करना चाहिए। 50 वर्ष या उससे अधिक उम्र के वयस्कों को प्रति दिन 1,000 मिलीग्राम कैल्शियम की आवश्यकता होती है।

सोडियम का सेवन कम करें

सोडियम की अधिक मात्रा मूत्र में कैल्शियम की मात्रा को बढ़ा सकती है। जो किडनी स्टोन को बढ़ावा देने जैसा है। विशेषज्ञों के अनुसार, एक एथलेटिक शरीर को प्रतिदिन 1,500 मिलीग्राम सोडियम की आवश्यकता होती है।

मांसाहारी भोजन से बचें

मांसाहारी भोजन से दूर रहें। जैसे रेड मीट, अंडे, बीफ, चिकन, मछली, दूध, मक्खन और घी आदि।

गुर्दे की पथरी किसी भी उम्र में हो सकती है और यह एक ही व्यक्ति को कई बार हो सकती है। जीवित रहने के लिए आपको अपने आहार पर सबसे अधिक ध्यान देना होगा।

हेलो डॉक्टर्स निदान और उपचार जैसी सेवाएं प्रदान नहीं करते हैं।

Post Tag: Kidney Stone prevention tips in Hindi, Kidney Stone prevention tips in Hindi 2022, Kidney Stone prevention tips in Hindi in 2022, Kidney Stone prevention tips in Hindi in 2022,Kidney Stone prevention tips in Hindi, Kidney Stone prevention tips in Hindi,

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.