Hair Transplant : हेयर ट्रांसप्लांट कैसे होता है?

88 / 100

परिचय

हेयर ट्रांसप्लांट (Hair Transplant) क्या है?

Hair Transplant kaise hota hai: हेयर ट्रांसप्लांट यानी बालों का प्रत्यारोपण, यह एक तरह की सर्जरी है। इसमें जिनके सिर पर बाल नहीं होते हैं या बाल झड़ते हैं, उनके डर्मेटोलॉजिकल सर्जन हेयर ट्रांसप्लांट की मदद से बालों को उगाते हैं। हेयर ट्रांसप्लांट का मुख्य उद्देश्य सिर पर बालों की संख्या बढ़ाना या बालों को घना करना है।

The head of a balding man a bald man was upset because of the hair loss treatment of baldness

हेयर ट्रांसप्लांट की जरूरत कब होती है?

हेयर ट्रांसप्लांट की जरूरत उन्हें होती है जो गंजे होते हैं या जिनके सिर पर बाल कम होते हैं। ऐसे में डॉक्टर हेयर ट्रांसप्लांट की सलाह देते हैं।

जोखिम (Hair Transplant kaise hota hai)

हेयर ट्रांसप्लांट करवाने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

हेयर ट्रांसप्लांट प्रक्रिया हर किसी के लिए सुरक्षित नहीं होती है। हेयर ट्रांसप्लांट केवल उन्हीं लोगों को करने के लिए कहा जाता है जो:

  • बाल झड़ना
  • जिसके बहुत बाल झड़ते हैं
  • अन्य कारणों से तेजी से बालों का झड़ना
  • जिन्हें सर्जरी के बाद कोई परेशानी नहीं होती है

कुछ लोगों के लिए हेयर ट्रांसप्लांट अच्छा विकल्प नहीं है:

  • औरत जिसके बाल जड़ से गिर गए हैं
  • जिनके पास पर्याप्त दाता नहीं है
  • जिन लोगों को कभी चोट और केलोइड निशान हुए हैं
  • जिनके बाल कीमोथेरेपी के कारण झड़ते हैं

Kidney Stone : किडनी में स्टोन होने पर बरतें ये सावधानियां

हेयर ट्रांसप्लांट के क्या साइड इफेक्ट्स और समस्याएं हो सकती हैं?

हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी को सुरक्षित माना जाता है। लेकिन, किसी भी सर्जरी की तरह, इस सर्जरी के भी कुछ जोखिम हैं:

  • संक्रमण
  • खून बह रहा हो
  • बालों के रोम में जलन
  • खोपड़ी पर पपड़ी
  • नए बालों के झड़ने जैसे अप्राकृतिक पैच
  • खोपड़ी में उभार

कभी-कभी असली बाल झड़ जाते हैं, लेकिन बाद में वापस आ जाते हैं। इस तरह के बालों का झड़ना शॉक लॉस कहलाता है। कई बार सर्जरी सफल नहीं हो पाती है, ऐसे में दोबारा हेयर ट्रांसप्लांट करना पड़ सकता है।

एनेस्थीसिया के बाद थोड़ा असहज महसूस करना। सिर में सूजन जैसी समस्या भी हो सकती है। इसके साथ ही सिर की त्वचा पर घाव निकल आते हैं और खुजली भी हो सकती है। डोनर द्वारा दिए गए बालों को ट्रांसप्लांट करने के बाद स्कैल्प पर पपड़ी पड़ सकती है और ट्रांसप्लांट किए गए बाल भविष्य में झड़ सकते हैं।

जरूरी नहीं कि ये समस्याएं सभी को हों, लेकिन आपको सभी जोखिमों के बारे में पता होना चाहिए।

प्रक्रिया (Hair Transplant kaise hota hai)

मुझे हेयर ट्रांसप्लांट के लिए खुद को कैसे तैयार करना चाहिए?

हेयर ट्रांसप्लांट की प्रक्रिया आपके ट्रांसप्लांट के प्रकार पर निर्भर करती है। हेयर ट्रांसप्लांट के लिए कुछ सामान्य दिशानिर्देश हैं:

  • सर्जरी से 24 घंटे पहले धूम्रपान बंद कर देना चाहिए। धूम्रपान सर्जरी के दौरान घाव को जल्दी ठीक नहीं होने देता है।
  • सर्जरी से तीन दिन पहले शराब का सेवन बंद कर देना चाहिए। बेहतर होगा कि आप एक हफ्ते पहले से ही शराब का सेवन बंद कर दें।
  • हेयर ट्रांसप्लांट करवाने से पहले अपने बाल न काटें। बाल आपके हेयर ट्रांसप्लांट में मदद करेंगे। क्योंकि यह सर्जरी के दौरान टांके को ढकने का काम करेगा।
  • सर्जरी से दो हफ्ते पहले अपने स्कैल्प की मालिश करें। लेकिन, मालिश 10 मिनट से कम और 30 मिनट से अधिक नहीं होनी चाहिए। इससे आपके स्कैल्प की त्वचा मुलायम हो जाएगी, जिससे सर्जरी करने में आसानी होगी।
  • सर्जरी से पहले आपको मिनोक्सिडिल नाम की दवा लेनी चाहिए। लेकिन डॉक्टर की सलाह पर ही लें। वहीं, डॉक्टर आपको एंटीबायोटिक्स दे सकते हैं ताकि सर्जरी के बाद संक्रमण का खतरा न हो।
  • वहीं, अगर आपकी उम्र 45 साल से ज्यादा है तो डॉक्टर आपका ईसीजी भी कर सकते हैं। साथ ही कुछ रक्त परीक्षण भी किए जाएंगे। ताकि आप जान सकें कि आप हेयर ट्रांसप्लांट कर सकते हैं या नहीं।
  • वहीं, सर्जरी से पहले एंटी-डिप्रेसेंट, बीटा ब्लॉकर्स और ब्लड थिनर जैसी दवाएं लेना बंद कर दें।
  • सर्जरी से दो हफ्ते पहले मल्टीविटामिन सप्लीमेंट जैसे गिंग्को बिलोबा लेना बंद कर दें।

हेयर ट्रांसप्लांट में क्या प्रक्रिया है?

हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी की प्रक्रिया बहुत ज्यादा प्रचलन में है।

  • फॉलिक्यूलर यूनिट स्ट्रीप सर्जरी (FUSS)
  • फॉलिक्यूलर यूनिट एक्सट्रैक्शन (FUE)

फॉलिक्यूलर यूनिट स्ट्रीप सर्जरी

फॉलिक्युलर यूनिट स्ट्रिप सर्जरी में स्कैल्प की त्वचा की स्ट्रिप्स को हटा दिया जाता है। इसके बाद जगह को बालों से ढक दिया जाता है। पहले तुम्हारा सिर सुन्न है। इसके बाद सर्जन आपके स्कैल्प की स्ट्रिप्स को हटाकर छोटे-छोटे छेद करता है। इसके बाद इसमें एक या कुछ बाल लगाए जाते हैं। इससे गंजे हिस्से पर हेयर ट्रांसप्लांट किया जाता है। जिसमें प्राप्तकर्ता साइट को कहा जाता है।

इस हेयर ट्रांसप्लांट की लागत आपके ग्राफ्टिंग के आधार पर तय की जाती है। यह उन लोगों के लिए फायदेमंद है जिन्हें कम जगह में ग्राफ्टिंग करनी पड़ती है। वहीं, फॉलिक्युलर यूनिट स्ट्रिप सर्जरी का एक नुकसान यह है कि जहां बालों को ट्रांसप्लांट किया जाता है, वहां चोट या पपड़ी लग जाती है। कुछ लोगों को सिर में सूजन जैसी समस्या भी होती है।

फॉलिक्यूलर यूनिट एक्सट्रैक्शन

फॉलिक्युलर यूनिट एक्सट्रैक्शन सर्जरी कराने से पहले आपका सिर सुन्न हो जाता है। इसमें पूरे सिर पर छेद कर बाल लगाए जाते हैं। जिसके बाद बालों की जड़ों पर बहुत छोटे-छोटे डॉट्स पाए जाते हैं। सिर का बाकी हिस्सा बालों से ढका होता है।

फॉलिक्युलर यूनिट स्ट्रिप सर्जरी (एफयूएसएस) की तुलना में तेजी से रिकवरी होती है। साथ ही जोखिम और चोट लगने की संभावना भी बहुत कम होती है। दूसरी ओर, फॉलिक्युलर यूनिट स्ट्रिप सर्जरी (एफयूएसएस) फॉलिक्युलर यूनिट एक्सट्रैक्शन (एफयूई) पद्धति की तुलना में अधिक महंगी है।

हेयर ट्रांसप्लांट के बाद क्या होता है?

  • हेयर ट्रांसप्लांट के बाद आपकी खोपड़ी बहुत संवेदनशील हो जाती है। इसलिए आपको कुछ दिनों के लिए अपने सिर पर पट्टी बांधनी होगी। साथ ही डॉक्टर द्वारा बताई गई दवाओं का सेवन करते रहना चाहिए। जिससे संक्रमण का खतरा कम होगा।
  • FUSS की तुलना में FUE में रिकवरी बहुत तेज होती है। वहीं अगर टांके लगे हैं तो 10 दिन बाद उन्हें हटा दिया जाता है।
  • अमेरिकन सोसाइटी ऑफ प्लास्टिक सर्जन के अनुसार, अधिकांश प्रत्यारोपित बाल छह सप्ताह के भीतर झड़ जाते हैं। फिर उसकी जगह नए बाल उग आते हैं। जो एक महीने में आधा इंच लंबा हो जाता है।
  • इन सब बातों के अलावा अगर आपको किसी भी तरह की समस्या का सामना करना पड़ता है तो अपने सर्जन और डॉक्टर से जरूर मिलें और सलाह लें।

रिकवरी (Hair Transplant kaise hota hai)

हेयर ट्रांसप्लांट के बाद मुझे खुद का ख्याल कैसे रखना चाहिए?

  • कुछ दिनों के लिए ऑफिस या काम पर न जाएं। ताकि सिर पर हुई सूजन को ठीक किया जा सके।
  • अगर आपको शैंपू करना है तो डॉक्टर के बताए गए शैंपू का ही इस्तेमाल करें।
  • यदि आपके सिर पर बड़े ग्राफ्ट हुए हैं, तो पूरे सिर पर पट्टियां रखें। ताकि वे साफ रहें और संक्रमित न हों।
  • सर्जरी के बाद सोते समय सावधान रहें। आप आधी सीधी स्थिति में सोएं और दो तकियों पर सिर रखकर सोएं। ऐसा आपको सर्जरी के बाद करीब तीन दिन तक करना होगा। क्योंकि अगर सोने में ट्रांसप्लांट किए गए बाल घिस जाते हैं तो आप मुश्किल में पड़ सकते हैं। इसके अलावा बाल भी निकल सकते हैं।
  • सर्जरी के 48 घंटे बाद तक धूम्रपान या शराब का सेवन न करें।
  • सर्जन आपको एक स्प्रे या लोशन देते हैं जिसे आपको अपने स्कैल्प पर स्प्रे करने की आवश्यकता होती है। ताकि जिन लोगों को ग्राफ्ट किया गया है, वे जल्दी ठीक हो जाएं।
  • सूजन पर बर्फ लगाएं।
  • सर्जरी के बाद धूप के संपर्क में आने से बचें।
  • एक सप्ताह तक न खेलें और न ही किसी प्रकार का व्यायाम करें।

हेलो डॉक्टर्स निदान और उपचार जैसी सेवाएं प्रदान नहीं करते हैं।

Post Tag: Hair Transplant Kaise hota hai, Hair Transplant Kaise hota hai in Hindi, Hair Transplant Kaise hota hai 2022, Hair Transplant Kaise hota hai hindi, Hair Transplant Kaise hota hai hindi 2022, Hair Transplant Kaise hota hai in hindi 2022, Hair Transplant Kaise hota hai

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.