क्या टोपी की वजह से गंजापन हो सकता?

93 / 100

Does wearing hat cause baldness in Hindi: क्या टोपी पहनने से वास्तव में खोपड़ी पर बाल कम हो सकते हैं या क्या टोपी से गंजापन होता है? आज हम कुछ शोधों के आधार पर टोपी से जुड़े कुछ मिथकों को जानेंगे और उनके पीछे का सच क्या है? टोपी के कारण गंजेपन और बालों के झड़ने के पीछे उम्र, तनाव, आनुवंशिकता, हार्मोनल परिवर्तन, दवा या चिकित्सीय स्थिति को कारण बताया जाता है।

क्या टोपी से गंजापन होता है? [Does wearing hat Cause baldness]

Table of Contents

अगर आपको लगता है कि गंजेपन या बालों के झड़ने की समस्या टोपी की वजह से है तो ऐसा नहीं है। किसी भी शोध में यह नहीं कहा गया है कि टोपी या टोपी पहनने से बाल झड़ते हैं। हालांकि, अगर आपको लगता है कि टोपी पहनने से आपके बाल झड़ते हैं, तो नीचे दी गई बातें भी जान लें।

does waring hat cause baldness

एक सामान्य इंसान के लिए एक दिन में 50 से 100 बाल झड़ना सामान्य माना जाता है। गंजापन सिर्फ टोपी की वजह से नहीं है।

यदि टोपी की गुणवत्ता कपास सामग्री या किसी ऐसी सामग्री की है जिससे अत्यधिक पसीना आता है तो यह बालों को नुकसान पहुंचाता है। अगर बाल खराब होते हैं तो बालों का झड़ना स्वाभाविक है और अगर यह समस्या बनी रहती है तो गंजापन भी हो सकता है।

मिथ- क्या बालों का झड़ना मां की वजह से होता है?

तथ्य- यह पूरी तरह सच नहीं है। कुछ हद तक यह महिलाओं में पाए जाने वाले X क्रोमोसोम के कारण होता है। लेकिन ये पूरी तरह सच नहीं है. आनुवंशिक समस्याएं अधिक प्रभावी हैं, लेकिन शोध से पता चलता है कि जिन पुरुषों के पिता गंजे होते हैं, उनमें गंजेपन का खतरा अधिक होता है।

मिथ- अगर आप गंजे हो रहे हैं तो आप बुजुर्ग हो रहें हैं?

तथ्य- ऐसा नहीं है, दरअसल किशोरावस्था में बालों का झड़ना बंद हो सकता है और 20 और 30 की उम्र में यह समस्या आम हो सकती है। किसी व्यक्ति में तेजी से बाल झड़ने की वजह से गंजेपन की समस्या शुरू हो सकती है।

मिथ- कैप पहनने से बाल झड़ते हैं टोपी की वजह से गंजापन होता है?

तथ्य- अपने बालों की कमी को छिपाने के लिए टोपी पर निर्भर पुरुषों के लिए अच्छी खबर है। टोपी पहनने में कोई बुराई नहीं है। हालांकि, गंदी टोपियां सिर में संक्रमण की समस्या जरूर शुरू कर सकती हैं। संक्रमण के कारण बहने की समस्या शुरू हो सकती है। इसलिए इस बात का ध्यान रखें कि आपकी टोपी साफ है या नहीं या टोपी में इस्तेमाल होने वाले कपड़े की गुणवत्ता क्या है।

मिथ- किसी ट्रॉमा की वजह से बाल झड़ने लगते हैं?

तथ्य- बाल झड़ना शारीरिक या भावनात्मक तनाव के कारण हो सकता है। लेकिन, कुछ दिनों बाद बालों का झड़ना वापस आ जाता है।

मिथक- प्रोपेसिया और रोगाइन का उपयोग इलाज के लिए किया जाता है

तथ्य- पिछले कई सालों से प्रोपेसिया की मदद से बालों के झड़ने की समस्या कम हो गई है। Propecia की दवा बालों के झड़ने की समस्या को कम करती है। Propecia की दवा ऐसे हार्मोन को नियंत्रित करती है, जिससे बालों के झड़ने की समस्या कम हो जाती है। वहीं, रोजेन को जेल की तरह स्कैल्प पर लगाया जाता है।

मिथक- अगर आप अपने बालों को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो हेयर स्प्रे का इस्तेमाल हानिकारक है।

फैक्ट- दरअसल, केमिकल्स के इस्तेमाल से बालों पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है। लेकिन, अगर आप जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल या इस्तेमाल करते हैं। रसायनों के उपयोग के साथ-साथ लोहे का भी उपयोग किया जाता है। यह बालों के झड़ने का एक कारण हो सकता है।

मिथक- बालों का झड़ना कार्बोहाइड्रेट के अधिक सेवन से होता है।

तथ्य- विशेषज्ञों के अनुसार कार्बोहाइड्रेट और रेड मीट शरीर के साथ-साथ बालों को भी पोषक तत्व प्रदान करते हैं।

मिथक- ऐसी मान्यता है कि गंजे लोग ज्यादा सेक्सुअली एक्टिव होते हैं।

तथ्य- जानकारों के मुताबिक यह धारणा पूरी तरह गलत है। टेस्टोस्टेरोन दोनों तरह के लोगों में एक ही तरह से बनता है।

टोपी से गंजेपन से जुड़े मिथक और तथ्य क्या हैं, इसे समझने के बाद आइए समझने की कोशिश करते हैं कि बालों को स्वस्थ कैसे रखा जाए?

बालों को स्वस्थ रखने के लिए निम्नलिखित टिप्स हैं। 

हम समझ चुके हैं कि टोपी से गंजेपन के क्या कारण होते हैं। अब आंवले का इस्तेमाल गंजेपन या बालों के झड़ने की समस्या को दूर करने के लिए किया जा सकता है। बालों से लेकर आपके पूरे शरीर को फिट रखने में आंवला मददगार होता है। यह विटामिन-सी और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है।

Smiling awkward bald guy pointing up and laughing

बालों को मजबूत बनाने और उनकी ग्रोथ बढ़ाने के लिए विटामिन-सी और एंटीऑक्सीडेंट दोनों ही मिनरल तत्व फायदेमंद होते हैं। कोलेजन भी विटामिन-सी के कारण बनता है। बालों के विकास में कोलेजन महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। घरेलू नुस्खों में आंवले का इस्तेमाल त्वचा की देखभाल के साथ-साथ बालों की देखभाल के लिए भी किया जा सकता है।

अगर टोपी या किसी अन्य कारण से गंजापन है तो प्याज बालों के लिए फायदेमंद होता है। बालों को स्वस्थ रखने के लिए प्याज के रस का इस्तेमाल किया जा सकता है। अगर आप बालों के झड़ने की समस्या से छुटकारा पाना चाहते हैं तो प्याज के रस को स्कैल्प पर लगा सकते हैं। प्याज में मौजूद सल्फर की मात्रा बालों के लिए फायदेमंद होती है। दरअसल, हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक सल्फर बालों की ग्रोथ के लिए काफी फायदेमंद होता है।

Does wearing hat Cause baldness

टोपी या किसी अन्य कारण से गंजेपन से बचने के लिए विशेष उपाय करना चाहिए। जब भी आप शैंपू करें या बालों पर लगाएं तो गर्म पानी का इस्तेमाल न करें। अगर आपको गर्म पानी से नहाने की आदत है तो गुनगुने पानी का इस्तेमाल करें। अत्यधिक गर्म पानी बालों के झड़ने या रूसी जैसे बालों को नुकसान पहुंचा सकता है। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि गर्म पानी बालों पर तो बुरा प्रभाव डालता ही है साथ ही त्वचा पर भी हानिकारक प्रभाव डालता है।

बालों को स्वस्थ रखने के लिए नियमित मालिश के साथ-साथ दो-तीन दिन के अंतराल पर शैम्पू करना अच्छा रहता है। ऐसा करने से टोपी से गंजेपन की समस्या या किसी अन्य कारण से बाल झड़ने की समस्या से बचा जा सकता है।

अगर आप बाल झड़ने की समस्या से परेशान हैं या टोपी की वजह से गंजेपन की समस्या से परेशान हैं तो इससे जुड़े किसी भी तरह के सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो बेहतर होगा कि आप एक्सपर्ट से समझें। हेलो डॉक्टर्स किसी भी तरह की चिकित्सकीय सलाह, इलाज या टेस्ट की सलाह नहीं देते हैं।

Post Tag: Does wearing hat Cause baldness, Does wearing hat Cause baldness in hindi, Does wearing hat Cause baldness in 2022, Does wearing hat Cause baldness hindi, Does wearing hat Cause baldness hindi 2022, Does wearing hat Cause baldness hindi in 2022, Does wearing hat Cause baldness, Does wearing hat Cause baldness hindi me, Does wearing hat Cause baldness,

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.